Wednesday, June 2, 2010

‘राजनीति’ के लिए...

एक महीने की भागादौड़ी के बाद घर में बैठने का मौका मिला। बस ‘राजनीति’ के प्रचार प्रसार में लगा था। बहुत बडी फिल्म है। तो बड़ा कमिटमेंट भी था। हर जगह उपस्थित रहना था। बीच में बीमार भी पड़ा, जिसके कारण टीम के साथ दुबई नहीं जा पाया। इस बीच लगातार गिने हुए मेहमानों और दोस्तों के लिए शो रखे गए। हर शो के बाद मित्र-परीचित तारीफ के पुल बांध रहे हैं। तारीफ सुनकर किसे अच्छा नहीं लगता?

कल रात यानी मंगलवार को को मैंने अपनी पत्नी को फिल्म दिखायी और अब तक हमारी बातें खत्म नहीं हुई हैं। मुझे अपनी फिल्मों को देखना अच्छा नहीं लगता। क्योंकि मैं अपनी फिल्म और काम से ज्यादा अभिनय की बारीकियों को ध्यान से देखता हूं। फिर ऐसा लगता है कि मैं बहुत कुछ कर सकता था पर चूक गया।

लेकिन, राजनीति में जिस तरह लोग मेरे काम को पसंद कर रहे हैं तो मुझे विश्वास ही नहीं होता कि आखिर क्यों । लेकिन अभिनेता का दिमाग अपने काम को अच्छे से अच्छा करने में लगा होता है। दर्शकों का दिमाग सिर्फ उसे ही दिखता है,जो पर्दे पर दिखता है। खैर, संतुष्ट हूं कि सभी को काम पसंद आ रहा है और श्री प्रकाश झा का फिल्म भी खूब पसंद आ रही है।

गुरुवार को मुंबई में फिल्म का प्रीमियर है। क्या पहनूं- इस पर दिमाग लगा हुआ है। ये मेरे लिए बहुत बड़ा सिरदर्द है। शायद किसी उत्सव में नहीं जाने का सबसे बड़ा कारण यही है मेरे लिए। कपड़े इतने जरुरी क्यों हो जाते हैं। कपड़े का रंग, कपड़े का डिजाइन वगैरह-लोग इन पर ध्यान देते हैं। अजीब लगता है। उफ..एक अजीब सी संकट की घड़ी है मेरे लिए। फिर भी इसे करते हुए 16 साल हो गए हैं इस इंड्स्ट्री में । इस बार भी हो ही जाएगा। उत्सुकता है लोगों की प्रतिक्रिया जानने की। जो लोग प्रीमियर में आएंगे और फिल्म देखेंगे। लेकिन जिन्होंने देखी है, उनकी प्रतिक्रिया से मैं बहुत खुश हूं। अब सिर्फ ऊपरवाले का और मेरे निर्देशक प्रकाश झा का शुक्रिया अदा कर रहा हू।

आप लोग भी फिल्म देखें और अपनी प्रतिक्रिया ब्लॉग पर दें...आपका आभारी रहूंगा।

आपका और सिर्फ आपका
मनोज बाजपेयी

57 comments:

सैयद | Syed said...

'राजनीति' जब से बन रही है .. तब से देखने की उत्सुकता है... पहले दिन ही देखना है अब तो..

अनुराग मुस्कान said...

राजनीति तो मैं देखूंगा ही... 'रावण' फ़िल्म पर अपने ब्लॉग में कुछ लिखा है... 'क्या सीता को रावण से प्रेम हो सकता है?' समय मिले तो देखिएगा, कमेंट भी करें तो क्या बात..

http://amuskaan.blogspot.com/

vimal verma said...

अभी भी आप वैसे ही हैं, कभी अपने काम से संतुष्ट ना होना तो आपकी आदत में शुमार था जो इतने दिनों बाद भी बरक़रार है.....देखेंगे मित्र आपकी "राजनीति" परिवार के साथ देखी जाएगी और उसके बाद यहां पर टिप्पणी भी की जाएगी...मित्र हमारी शुभकामनाएं स्वीकार करें।

चन्दन said...

अब तो बेसब्री से इंतज़ार है। आज इत्तेफाकन अपने ब्लॉग पर एक पोस्ट लगाया जिसका शीर्षक वही मुखड़ा है – मोरा पिया मोसे..। परसो या नरसो ‘रोड’ देख रहा था। कमाल का काम है आपका!

सतीश पंचम said...

तन्नी गुरू का गेटअप कैसा रहेगा प्रिमियर के लिए :)

इतना जरूर होगा कि मीडिया का अटेंशन फिल्म से डायवर्ट होकर आपके गेटअप पर केन्द्रित हो जायगा। जो शायद प्रकाश जी न चाहेंगे :)

दरअसल BHU के काशीनाथ सिंह द्वारा रचित 'काशी का अस्सी' किताब में बनारस के अस्सी घाट स्थित पप्पू की दुकान में होने वाली राजनीतिक बहसों का वाकया दर्ज है.....उसी में एक कैरेक्टर हैं खडाऊँ पहने, कमर में गमछा, कान्धे पर लंगोट, बदन पर जनेऊ वाले तन्नी गुरू....धारदार राजनीतिक बहसों के कैरेक्टर ।

कुछ बोल्ड किस्म का लेखन है किताब में लेकिन वास्तविकता को प्रस्तूत करने के लिए इस किस्म का लेखन भी जरूरी है।

जरा एक बानगी देखिए...

जमाने को लौ* पर रखकर मस्ती से घूमने की मुद्रा आइडेंटिटी कार्ड है इसका :)

तो गुरू, हो सके तो एक बार पढ़ लिजिए....और जहां तन्नी गुरू गेटअप में आए तो फिर..समझ जाइए...प्रकाश जी नाराज न हों बस :)

शिवम् मिश्रा said...

मनोज भैया ,

प्रणाम !

प्रीमियर के दिन एक झक सफ़ेद कुरता-पैजामा कैसा रहेगा ?

बहुत बहुत शुभकामनाएं आपको और पूरी टीम को !

आपका अनुज

शिवम् मिश्रा
मैनपुरी, उत्तर प्रदेश

Yogesh Gulati said...

आप एक मंझे हुए अभिनेत हैं, और प्रकाश झा उतने ही माहिर निर्देशक. आपकी फिल्म पर सारे देश की निगाहें टिकी हैं! प्रोमो देख कर लगता है कि ये ना केवल सफल होगी बल्कि अवार्ड भी बटोरेगी! लेकिन देखना ये है कि कहीं सारा क्रेडिट कैटरीना तो नहीं ले उडेंगी? मेरी शुभकामनायें आपके साथ हैं!

दीपक 'मशाल' said...

आपकी फिल्म ना देखें ये हो सकता है सरकार.. :) स्वाभिमान के बाद दो ही तो कलाकार दिखते हैं जिनसे उम्मीदें हैं आशुतोष अंकल और आप..
ब्लॉग से सम्बंधित एक जरूरी बात करनी थी यदि संभव हो तो mashal.com@gmail.com पर अपना नंबर या मैसेज दें.. आपके इस पंखे.. नहीं नहीं ए. सी, को खुशी होगी और शायद जो बात मैं बताना चाहता हूँ वो जानकर आपको भी अच्छा लगे.

Yogesh Gulati said...

उम्मीद है इस फिल्म में भी आपका ज़ोरदार अभिनय दर्शकों को प्रभावित करेगा! वैसे मुझे भी रिजेक्ट किया था नेशनल स्कूल आफ ड्रामा ने! हार कर मैने पत्रकारिता की लाईन पकड ली!नहीं तो..........

nilesh mathur said...

भैया, पहले तो बहुत शुभकामना राजनीति कि सफलता के लिए, और आप जैसे साधारण इंसान को कपड़ों के बारे में नहीं सोचना चाहिए, जितने साधारण कपडे आप पहन कर जाएँगे उतना ही लोगों कि नज़र में आएँगे, सो आप कुरता पायजामा जैसा कोई साधारण कपडा पहन कर जाए तो ही ठीक रहेगा!
www.mathurnilesh.blogspot.com

pukhraaj said...

कितनी गुजारिशें की थी जिन्दगी से
उस मोड़ पे जा के लौट आई है ,...

पहनावे से ही तो आदमी की पहचान है ... सभ्यता की निशानी जो है ... मूवी अच्छी बन पड़ी है विज्ञापन देखकर पता चल रहा है .. बाकी हमारी wishes आपके साथ हैं ....

राजकुमार सोनी said...

जरूर देखेंगे और फिर लिखकर बताएंगे कि फिल्म कैसी बनी है.. चलेगी या नहीं चलेगी।
वैसे आपने अच्छा काम किया होगा... हमेशा की तरह।

nitin said...

kara jawab milega........ mujhe patta hain yeh film sab logo ko pasan aayagei.

nitin said...

kara jawab milega........ mujhe patta hain yeh film sab logo ko pasan aayagei.

anjule shyam said...

karara jawab denge karara..................matlab film ka phla show dekhna pahle hi pakka kar liya hai......

sudhanshu chouhan said...

हो मनोज भईया, अब तो तू नेता बन गेल बाड़ु हो। त इ कपड़ा के चिंता काहे कर तरा। कुरता -पायजामा न तो धोती-कुरता औरो गांधी टोपी पहनेला शुरू करअ। अबकी लोकसभा चुनाव में तोहरा के पटना साहिब लोकसभा से चुनाव लड़बाइब हो। सुनअ तारअ कि ना हो।शत्रु जी के 5 साल पूरा होखे बा।

muktibodh said...

कल ही जाकर देख पाउंघा भौजि क्य हाल है

Mukesh hissariya said...

जय माता दी,
माँ वैष्णो के आशीर्वाद से आपकी "राजनीती "अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दे यही कामना है हमारी .
मुकेश हिसारिया ,9835093446

मनुज said...

मनोज जी,
आपका मैं बहुत बड़ा प्रशंसक हूँ. मैं आपका तभी से फेन हूँ जब मैंने आपकी "शूल" फिल्म देखी थी. आपकी एक्टिंग बेजोड़ है. "राजनीति" का बेसब्री से इंतज़ार है.

ramkumar singh said...

प्रिय मनोज जी,
राजनीति देख ली गई है। रिव्‍यू भी लिख दिया गया है। आपकी तारीफ करना भी लाजिमी है। यूं ही भटकते हुए आपके ब्‍लॉग पर आया था। रिव्‍यू सुबह अखबार में छपेगा। इससे पहले आप मेरे ब्‍लॉग के लिंक पर जाकर पढ सकते हैं। आपने सचमुच उम्‍दा काम किया है। झुरझुरी सी छूटती है जब आप क्‍लोज अप में कहते हें, करारा जवाब मिलेगा।
www.indiark.tk

आदर्श युवा मंच said...

मनोज जी, 'राजनीति' देखी। अद्भुत अभिनय किया है आपने। खासकर उस दृश्य में जब आप कहते हैं कि- वीरेंद्र प्रताप को किसी सहारे की जरूरत नहीं। करारा जवाब मिलेगा- इस संवाद में मिट्टी की महक और संघर्ष की लंबी यात्रा की कथा है। उपरोक्त दृश्यों में अभिनय करते समय आपके जेहन में क्या चल रहा होगा- उसकी जिज्ञासा जगाता है। मेरी ओर से बधाई और शुभकामनाएं।
- आदर्श कुमार इंकलाब

anoop joshi said...

sir saandaar abhinay.badahi raajniti ke liye

jitendrajha jitu said...

first day and first show hum 25 dosto ki toli gaye the dekhne rajneetiiiiiiiiiiiii,best laga .dekhne ke bad sabhi ye soch rahe the ki acting kisi ne kia hai to wo sirf aapne kia hai haaa ek bat hum sabhi ko khatki ki marte samay apka kuch savand ranveer se ya nana se yaa ajay ka hona chaea tha ek klami ...film ki wo ye ki ajay ke marne ke bad mother ka shok ya koi tension kyo nahi...ajay ne maa ko vachan nahi dia ki wo pahle goli nahi chalega ranvver pe last kuch damdar hota to aur best hota waise film diretor ki hotio hai...........to jai ho bhiku bhay kiiiiiiiiiiiiiiiiii

Taufiq said...

मनोज जी मैं आपका हमेशा से प्रशंसक रहा हूँ , क्यूंकी राजनीति की शूटिंग भोपाल में हुई है इसलिए इसे देखने के लिए मैं बहुत उत्साहित था , जब फिल्म देखने गया तो आपको अपने कालेज में देख कर अच्छा लगा.आपका राजनीति में किया गया अभिनय वाकई हिला देने वाला है. सचमुच , वीरेंद्र प्रताप की प्रभावशाली भूमिका आपसे अच्छी और कोई निभा ही नही सकता था . सच मानिए इस वर्ष का फ़िल्मफ़ेयर अवार्ड आपको ही मिलना तय है . शुभकामनाओं सहित

sudhanshu chouhan said...

"क़रारा जवाब देंगे!"
वाह!वाह!वाह! हो मनोज भईया, ढेर दिन के बाद तोहरा के फॉर्म में देखे लगी मिलल। मन ख़ुश हो गईल हो। "क़रारा जवाब देंगे!" इ डॉयलॉग से हमरा के फिर सत्या बाला डॉयलॉग "मुंबई का किंग कौन? भीखू म्हात्रे" याद आ गईल हो।" 'राजनीति' में हमरा ख़याल से तोहरा रोल में सबसे जादा जान रहिल हो। वाह! मन ख़ुश हो गईल। सत्या,रोड, जागो अ पिंजर के बाद उहे बाला फ़ॉर्म तोर एक बार फिर परदा पर देखे लागी मिलल। वाह!
जुग जुग जिय हो मनोज भईया। अइसने रोल आगे भी करअ।
हमार मनोज भईया तो सच्चे में सबके क़रारा जबवाब दे देलन हो राजाजी।

anoop joshi said...

बहुत बढ़िया सर, शायद ये पहेली महाभारत है जहाँ द्रुयोधन की तारीफ हो रही है.

ashu said...

मनोज भैया
प्रणाम !
भैया, पहले तो बहुत शुभकामना राजनीति कि सफलता के लिए!

'राजनीति' जरूर देखेंगे और फिर लिखकर बताएंगे कि फिल्म कैसी बनी है.. बहुत बहुत शुभकामनाएं आपको और पूरी टीम को !
aap ka
ashu

neeraj chhabra said...

i saw rajniti on this friday. it is a good movie.i like your acting. in rajniti, you perform briliantly.story and star cast was great. keep it up.

vikas said...

Manoj bhai,
Kya zabardast performance
kya kamaal acting
bahut bahut badhaai

vikas pratap

sonu said...

Rajneeti.Loktantra ka kathor chehra...sahi tag line thi.Man bhar aaya film me desh ke halaton ko dekh kar.Sachhai bayaan ki hai.
Meri shubhkamnaye.

Vaishnavi Vandana said...

आप बिहार की शान हैं... आपके अभिनय में जो परिपक्वता है, वाह आपके जीवन-संघर्ष की कहानी कहती है... 'शूल' हो या 'राजनीति' या चाहे 'दिल पे मत ले यार' ही क्यों न हो... आपने अपनी अलग शिनाख्त बनाई है... आपने साबित किया है 'हम न बोलेंगे हमारा काम बोलेगा'... आपको हार्दिक बधाई...
वैष्णवी वंदना

Sanjay Chandak said...

We are based in the Netherlands and we got to chance to see this movie today evening with my family as we are very excited to see this movie because there are couple of reasons, first this movie was shoot in Bhopal (and we are based from Bhopal, we migrated to the Netherlands few years ago).2 We watch your every movie (one of our favorite is shool (again some part shoot in bhopal.) so you are our Hero. Well we like your acting and your are superb in this movie too. so keep it up and we shall wait for your new movie soon. Also update your travel plan if is there for the Netherlands in the near future.

Thanks and good luck.
Sanjay Chandak
The Netherlands.

Rohit Goyal said...

Today i saw your movie and found it amazing. Your work was excellent. Congratulation.

Thanks.

KESHAW said...

बहुत बढ़िया मनोज भाई, जबरदस्त एक्टिंग, गर्व है हमें चंपारण वासी होने पर, भावबिभोर कर दिया आपने, दिग्गजों के बीच में सबसे ज्यादा वाहवाही पाना गर्व की बात है, काश आप झा जी पहले की फिल्मो में होते जैसे गंगाजल..., हमें अभिमान चंपारण के इस जोड़ी पे... बहुत बहुत शुभकामनाये................

mohit the dew said...

Congratulations manoj. Just saw rajneeti, and am really impressed by your portrayal of Duryodhan... Along with Ranbir and Ajay, I guess your was the best performance. Keep doing such meaningful roles and entertaining us. Congrats again.

INDRADHANUSH said...

कल राजनीित देख ली,आपका काम बहुत अच्छा लगा,सत्या आैर जुबैदा के बाद आपने िफर इस िफल्म से अपने अिभनय से सबको सम्मोहित कर िलया। अब तो आरक्षण का इंतजार है।

Somebody said...

http://en.wikipedia.org/wiki/Raajneeti

Please read PLOT section and get it corrected

Appreciate your work. You are always pleasure to watch.

शशांक शुक्ला said...

मनोज भाई अब क्या कहूं राजनीति की ही बात नहीं है आप के एक्टिंग बहुतों से बेहतर है...मै जितने कलाकारों को पसंद करता हूं बतौर एक्टर उनमें आप पहली पंक्ति में है..राजनीति में आपका काफी अच्छा है....वैसे अजय देवगन ने बी काफी बेहतर काम किया है....राजनीति जैसे विषय पर बनी फिल्म में जबतक चेहरे पर कुटिलता न दिखे तक राजनेता लगना मुमकिन नहीं है....वैसे एक्टिंग आपने की है जो मुझे काफी अच्छी लगी है..

sandeepharyanvi said...

Manoj ji,
Achchi film banayi hai prakashji ne. Film to aapke aur ranbeer ke kandhon par tiki hui hai. Bewajah katreena ko promote kiya gaya hai. Aapne lajwab acting ki hai. Overall good film, but not great like satya and shool.

Nishit Kumar said...

Very nice movie with great team effort.Manoj sir was brilliant as usual.He was shining like a sun between all the stars.I would suggest Prakash Jha for applying the doctorate degree in political film making.I have watched it 3 times and waiting for 4th.CONGRATS

Bhuvan said...

Manoj sir, your look, demeanour and dialogue delivery were perfect in Rajneeti. You lifted the entire movie with your performance and I could picture how the real life Duryodhan may have been. All the best and may you do more such high impact roles in the future.

harsh chhaya said...

.. आपकी फ़िल्म देखी... जो काम आपने किया है, वह आप न करेंगे तो कौन करेगा, निजी संतोष-असंतोष अपनी जगह है, कुछ और ढूँढ्ते रहना ही आगे बढते रहने का रास्ता बनाता है..बहरहाल..अपनी एक बात कहने कि गुस्ताखी़ करूँ तो.. सत्या के बाद भी आपकी कुछ अच्छी फ़िल्में आयी और आपके काम को सराहा भी गया, लेकिन मानो जैसे लोगों ने आपको फिर भी कोई खास मौके नहीं दिये..रजनीती के बाद आपको रोकना मुश्किल होगा... आपको बहुत बहुत बधाई..

Anand Rathore said...

bahut khoob ... lajavab

kaushlendra said...

sir mai ek bat batana chata hoon film me do hi logo ka roll acha hai aap aur ajay ji. but sir film ka jaisa anuman tha waisa bana nahi story to shai liya but jo uska mid aur end hona chauye tha wo shai nahi raha film se bhaut sare log satisfy nahi hai sjo topic uthya gaya use us roop ke anusar dhala nahi gaya bat wo hoti hai jis bhi topic ko aap utate hai use uske anusar dhaliye bhaut sari khamiya hai film me aap ka jaisa mere liye as a actor immage bana hai use is roop me rahne de thanks.koi galti ho gaya ho to maaf kare.thanks

deepti said...

namaskar manoj ki aj pehli bar apkey blog par ayi hun. Padhkar achcha laga or ye janker bhi ki ap saral or seedhee batein kartey hain.Apka blog apki sadgi or logon ke prati apka apnatva bakhubi darshata hai.

deepti said...

main bhi ek blog likhti hun. kabhi samay ho to ek bar dekhiyega jaroor ummid hai apko pasand ayega.Mere blog ka link hai

http://deeptianglesworld.blogspot.com/

Amit Shekhar said...

Stunned by the brilliance of portrayal...u simply looked royal!!All the best!!

malav said...

sir aapki RAAJNEETI bahot hi badhiya hai.........
usme aapki aur arjun ji ki acting to bahot hi achchhi hai.........
i loved this movie very much.....
nd you are d best .............
aapko bahot jyada subhkamnayein.....

मनोज खलतकर said...

मनोज भैया जयश्रीराम,
लाज़वाब अभिनय ... वीरेन्द्र प्रताप की भूमिका में आपने जान लगादी, आपका भविष्य उज्जवल हो यही राम जी से कमाना है. लेकिन प्रकाश झा साहब चुक गए ... उन्होंने तो चुनाव भी लड़ा है ? चुनाव प्रचार के द्रश्य में लाल बत्ती की गाड़िया ... उनसे तो ऐसी आशा नहीं थी..

sumantasen said...

karara jawab milega......what a performance MANOJ SIR. but ending was not satisfied.

sumantasen said...

karara jawab milega......what a performance MANOJ SIR. but ending was not satisfied.

PrakashSinghRathod said...

hamari subha kamna hai ki continue aap 10 ishi tarah ki acting kare aur aane wala har actor manoj banana chahe taki hamara sar garima ke sath uuper uthe .


aapake acting ko ek follower ka salam.

संजय भास्कर said...

मनोज भैया ,
प्रणाम !
बहुत बहुत शुभकामनाएं आपको और पूरी टीम को !

संजय भास्कर said...

आपने अच्छा काम किया होगा... हमेशा की तरह।

freebooks said...

great movie and the greatest character was of your's. this time you are going to win a filmfare for sure (though it dosent matter much). thank you for such a good performance. i am watching your scenes again and again. you really got that royal attitude. keep it up. virendra pratap harkar bhi jeet gya.

Anurakt Srivastav

hunkar said...

aap ka andaj nirala hai

hunkar said...

aap ki acting kawile tarif hai.